शिवना साहित्यिकी वर्ष : 4, अंक : 16 त्रैमासिक : जनवरी-मार्च 2020

मित्रों, संरक्षक एवं सलाहकार संपादक, सुधा ओम ढींगरा, प्रबंध संपादक नीरज गोस्वामी, संपादक पंकज सुबीर, कार्यकारी संपादक, शहरयार, सह संपादक पारुल सिंह के संपादन में शिवना साहित्यिकी का वर्ष : 4, अंक : 16 त्रैमासिक : जनवरी-मार्च 2020 का वेब संस्करण अब उपलब्ध है। इस अंक में शामिल है-  आवरण कविता  / अमृता प्रीतम, संपादकीय / शहरयार, व्यंग्य चित्र / काजल कुमार, स्मृति शेष- स्वयं प्रकाश / वीरेन्द्र जैन, एकाग्र- जयनंदन की कहानियाँ / डॉ. नीलोत्पल रमेश, राकेश मिश्र  की कविताएँ  / डॉ. सीमा शर्मा, पुस्तक समीक्षा- अयोध्या से गुजरात तक- भालचन्द्र जोशी / सुशांत सुप्रिय, बाबाओं के देश में- सूर्यकांत नागर / कैलाश मंडलेकर, नई कोंपलें- पारुल सिंह / मोतीलाल आलमचंद्र, मंच पर उतरी कहानियाँ- अनिता रश्मि / कुमार संजय, आईना किस काम का- अनीता रश्मि / जाबिर हुसैन, हरिद्वार का हरि- गोविन्द सेन / महेश शर्मा, बिन पूँजी का धंधा- दीपक गिरकर / अश्विनी कुमार दुबे, एक पाती ऐसी भी- डॉ. ऋतु भनोट / कृष्णा अग्निहोत्री, कोचिंगञ्चकोटा- नवीन कुमार जैन / अरुण अर्णव खरे, दोहों से दोहा ग़ज़लों तक- डॉ. मधुसूदन साहा / ज़हीर कुरेशी, बेहतरीन व्यंग्य- अरुण अर्णव खरे / प्रभाशंकर उपाध्याय, चलो ! अब आदमी बना जाए- अरुण अर्णव खरे / सतीश श्रीवास्तव ‘नैतिक’, इस ज़िन्दगी के उस पार- संदीप ‘सरस’ / राकेश शंकर भारती, इस समय तक- डॉ. नीलोत्पल रमेश / धर्मपाल महेंद्र जैन, कार्यस्थल पर यौन उत्पीड़न, कारण और निवारण- शैलेन्द्र शरण / शहरयार अमजद ख़ान, पुस्तक चर्चा- ऋणानुबंध / सचिन तिवारी / डॉ. विमलेश शर्मा, शोध आलेख- जिन्हें जुर्म-ए-इश्क़ पे नाज़ था- जुगेश कुमार गुप्ता, प्रतिभा सिंह, डॉ. रश्मि दुधे, लेखक : पंकज सुबीर। आवरण चित्र राजेंद्र शर्मा बब्बल गुरू, डिज़ायनिंग सनी गोस्वामी। आपकी प्रतिक्रियाओं का संपादक मंडल को इंतज़ार रहेगा। पत्रिका का प्रिंट संस्करण भी समय पर आपके हाथों में होगा।
ऑन लाइन पढ़ें-    
https://www.slideshare.net/shivnaprakashan/shivna-sahityiki-jan-mar-2020
https://issuu.com/shivnaprakashan/docs/shivna_sahityiki_jan_mar_2020
साफ़्ट कॉपी पीडीऍफ यहाँ से डाउनलोड करें
http://www.vibhom.com/shivnasahityiki.html

वैश्विक हिन्दी चिंतन की अंतर्राष्ट्रीय पत्रिका "विभोम-स्वर" का वर्ष : 4, अंक : 16, त्रैमासिक : जनवरी-मार्च 2020

मित्रो, संरक्षक तथा प्रमुख संपादक सुधा ओम ढींगरा एवं संपादक पंकज सुबीर के संपादन में वैश्विक हिन्दी चिंतन की अंतर्राष्ट्रीय पत्रिका "विभोम-स्वर" का वर्ष : 4, अंक : 16, त्रैमासिक : जनवरी-मार्च 2020 अंक का वेब संस्करण अब उपलब्ध है। इस अंक में शामिल है- संपादकीय। मित्रनामा। साक्षात्कार- रचना श्रीवास्तव से सुधा ओम ढींगरा की बातचीत। कथा कहानी- डेरा उखड़ने से पहले...!, वन्दना अवस्थी दुबे, स्मृतियों के प्रश्नचिह्न- अंशु जौहरी, घास का मैदान- शेर सिंह, जॉन की गिफ़्ट- पुष्पा सक्सेना, सीप में समुद्र- कविता विकास, सीख- डॉ. पुष्पलता, तुम नहीं समझोगे!- राजगोपाल सिंह वर्मा। लघुकथाएँ- अधूरा लेख- ज्योत्सना सिंह, भीड़- जनगणना, पुखराज सोलंकी, बस अपने लिए- डॉ. संगीता गांधी, गिनीपिग्स, ड्रॉबैक- संतोष सुपेकर। भाषांतर- एंटीक फिनिश, मूल तेलुगु कहानी : अरुणा पप्पु, अनुवाद : आर.शांता सुंदरी, यह दूध तुम्हारा- मूल पंजाबी कहानी- कुलवंत सिंह विर्क, अनुवाद- डॉ. अमरजीत कौंके। व्यंग्य- एक्स इंस्पैक्टर मातादीन टेंशन में- अशोक गौतम, पांडेय जी मौसम और मौसिकी- लालित्य ललित। शहरों की रूह- मनभावन शहर सिडनी की कुछ गलियाँ- रेखा राजवंशी। यात्रा वृत्तांत- दर्रों की घाटी लद्दाख- संतोष श्रीवास्तव। हमारी धरोहर- शादी.....मेरी गुड्डी की- शशि पाधा। नाटक- राम की शक्ति पूजा- महाकवि निराला, डॉ. कुमार संजय। ग़ज़ल- नज़्म सुभाष। कविताएँ- प्रमोद त्रिवेदी, शिफाली पांडेय, रेखा भाटिया, सुमित चौधरी, सुमित दहिया, अमृत वाधवा। नव पल्लव- सुप्रीता झा, गर्भनाल-शुभ्रा ओझा, अनूठे जज़्बात- दर्शना जैन, दोहे- यूथिका चौहान। समाचार सार- शांति गया स्मृति सम्मान, हिन्दी पत्र-पत्रिकाओं की प्रदर्शनी, ज्ञान चतुर्वेदी व्यंग्य सम्मान, खंडवा में पुस्तक चर्चा, शमशेर सम्मान, राष्ट्रभाषा भूषण सम्मान, हाउस ऑफ लॉर्ड्स, लघुकथा सम्मेलन, धर्मपाल महेंद्र जैन सम्मानित, कथाक्रम सम्मान, पुस्तकों का लोकार्पण, राष्ट्रीय व्यंग्योत्सव, सृजन संवाद, विमोचन समारोह, आख़िरी पन्ना। आवरण चित्र राजेंद्र शर्मा, रेखाचित्र - अनुभूति गुप्ता, डिज़ायनिंग सनी गोस्वामी, शहरयार अमजद ख़ान, आपकी प्रतिक्रियाओं का संपादक मंडल को इंतज़ार रहेगा। पत्रिका का प्रिंट संस्क़रण भी समय पर आपके हाथों में होगा।
https://www.slideshare.net/vibhomswar/vibhom-swar-jan-march-2020
https://issuu.com/home/published/vibhom_swar_jan_march_2020
वेबसाइट से डाउनलोड करें
http://www.vibhom.com/vibhomswar.html
फेस बुक पर
https://www.facebook.com/Vibhomswar
ब्लाग पर
http://vibhomswar.blogspot.in/
कविता कोश पर पढ़ें
http://kavitakosh.org/kk/विभोम_स्वर_पत्रिका


Hesh Tag Zindagi


नई किताबें




शिवना साहित्यिकी का वर्ष : 4, अंक : 15 त्रैमासिक : अक्टूबर-दिसम्बर 2019

मित्रों, संरक्षक एवं सलाहकार संपादक, सुधा ओम ढींगरा Sudha Om Dhingra , प्रबंध संपादक नीरज गोस्वामी Neeraj Goswamy , कार्यकारी संपादक, शहरयार Shaharyar Amjed Khann , सह संपादक पारुल सिंह Parul Singh के संपादन में शिवना साहित्यिकी का वर्ष : 4, अंक : 15 त्रैमासिक : अक्टूबर-दिसम्बर 2019 का वेब संस्करण अब उपलब्ध है। इस अंक में शामिल है- आवरण कविता / भगवत रावत Pragya Rawat , संपादकीय / शहरयार, व्यंग्य चित्र / काजल कुमार Kajal Kumar , साक्षात्कार - गीताश्री Geeta Shree से पारुल सिंह Parul Singh की बातचीत, पुस्तक चर्चा- हिंदी वृहद् व्याकरण कोश, सचिन तिवारी / डॉ. के.आर. महिया एवं डॉ. विमलेश शर्मा, कहाँ हो तुम / डॉ. रामसिया शर्मा Ramsiya Sharma / भावना भट्ट Bhavna Bhatt , काव्य मंजरी / संदीप सरस Sandeep Saras / सुरेश सौरभ @suresh saurabh , उपनिषद की कहानियाँ / सचिन तिवारी / डॉ. पन्ना प्रसाद। पुस्तक समीक्षा- मन्नत टेलर्स, वंदना वाजपेयी Vandana Bajpai / प्रज्ञा Pragya Rohini, ग़ाफ़िल, प्रकाश कांत Prakash Kant / सुनील चतुर्वेदी Sunil Chaturvedi, पालतू बोहेमियन, कमलेश पाण्डेय Kamlesh Pandey / प्रभात रंजन Prabhat Ranjan , झरोखा, अपर्णा भटनागर / पंकज त्रिवेदी Pankaj Trivedi , चौधराहट, नीलोत्पल रमेश @nilotpal ramesh / जयनंदन Jai Nandan , कितने अभिमन्यु, वेदप्रकाश अमिताभ @ved prakash amitabh / योगेंद्र शर्मा Yogendra Sharma , जागती आँखों का सपना, डॉ. रमाकांत शर्मा / मंजुश्री Manju Shri , कच्चा रंग, डॉ. अनीता कपूर Anita Kapoor / डॉ. पल्लवी शर्मा Pallavi Sharma , नव अर्श के पाँखी, सुभाष काबरा @subhash kabra / अनुपमा श्रीवास्तव अनु श्री अनु श्री, यादों के दरीचे, माधुरी / प्रभाशंकर उपाध्याय @prabhashankar upadhyay , चुप्पियों के बीच नीरज नीर Neeraj Neer / डॉ. भावना कुमारी @bhawna kumari । शोध आलेख- गांधी की पत्रकारिता का भारतीय मॉडल डॉ. कमल किशोर गोयनका Kamal Kishore Goyanka । फ़िल्म समीक्षा- मेकिंग आफ महात्मा, वीरेन्द्र जैन Virendra Jainn / निर्देशकः श्याम बेनेगल। केंद्र में पुस्तक- जिन्हें जुर्म-ए-इश्क़ पे नाज़ था, पंकज पराशर Pankaj Parashar , मनीषा कुलश्रेष्ठ Manisha Kulshreshtha , शुभम तिवारी Shubham Tiwari , ब्रजेश राजपूत Brajesh Rajput , कविता वर्मा Kavita Verma , दिनेश पाल Dinesh Pal । लेखक : पंकज सुबीर। आवरण चित्र राजेंद्र शर्मा बब्बल गुरू, डिज़ायनिंग सनी गोस्वामी Sunny Goswamii। आपकी प्रतिक्रियाओं का संपादक मंडल को इंतज़ार रहेगा। पत्रिका का प्रिंट संस्करण भी समय पर आपके हाथों में होगा।
ऑन लाइन पढ़ें-
https://www.slideshare.net/shivnaprakashan/shivna-sahityiki-oct-dec-2019

https://issuu.com/home/published/shivna_sahityiki_oct_dec_2019

साफ़्ट कॉपी पीडीऍफ यहाँ से डाउनलोड करें

http://www.vibhom.com/shivnasahityiki.html

"विभोम-स्वर" का वर्ष : 4, अंक : 15, त्रैमासिक : अक्टूबर-दिसम्बर 2019 अंक का वेब संस्करण

मित्रो, संरक्षक तथा प्रमुख संपादक सुधा ओम ढींगरा Sudha Om Dhingra एवं संपादक पंकज सुबीर Pankaj Subeer के संपादन में वैश्विक हिन्दी चिंतन की अंतर्राष्ट्रीय पत्रिका "विभोम-स्वर" का वर्ष : 4, अंक : 15, त्रैमासिक : अक्टूबर-दिसम्बर 2019 अंक का वेब संस्करण अब उपलब्ध है। इस अंक में शामिल है- संपादकीय। मित्रनामा। साक्षात्कार -डॉ. हंसा दीप Hansa Deep से सुधा ओम ढींगरा की बातचीत। कथा कहानी- दुर्गा- विवेक मिश्र Vivek Mishra , एमी का प्रणय पथ- कादम्बरी मेहरा @kadambari mehra , हम पहुँच जाएँगे तेरी शादी में भारत...- अर्चना पैन्यूली Archana Painuly , तुम सही हो लक्ष्मी- डॉ.रमाकांत शर्मा @ramakant sharma , जुड़े गाँठ पड़ जाए....- ज्योति जैन @jyoti jain , छोछक- रेनू यादव Renu Yadav , बोआई की खुशबू- पंकज त्रिवेदी Pankaj Trivedi , ऊब- राजेश झरपुरे Rajesh Zarpure । लघुकथाएँ- लव स्टोरीञ्चसाकेत मॉल- संगीता कुजारा टाक Dolly Tak , मंदिर की पवित्रता- सुभाष चंद्र लखेड़ा Subhash Chandra Lakhera , परख- डॉ. प्रदीप उपाध्याय @pradeep upadhyaya , बेटे होकर- सुमन कुमार @suman kumar । व्यंग्य- मेरे साक्षात्कार - अश्विनीकुमार दुबे Ashwini Kumar Dubey । भाषांतर- अपना घर, मूल कथा : मंशायाद, अनुवाद- शहादत Shahadat Mehinuddin । शहरों की रूह- पहाड़ी सुंदरी गुस्से में है!, मुरारी गुप्ता Murari Gupta । आलेख- अनाम रिश्तों की चितेरी, वीरेन्द्र जैन Virendra Jain । संस्मरण- जब दिल्ली प्रेस की नौकरी छूटी, अमरेंद्र मिश्र Amrendra Mishra । हमारी धरोहर- कीकली कलीर दी...., शशि पाधा Shashi Padha , चिट्ठियाँ हो तो हर कोई बाँचे....., गोवर्धन यादव @govardhan yadav । यात्रा-संस्मरण- स्वदेश विदेशियों की नज़र में...., डॉ. अफ़रोज़ ताज Afroz Taj । नव पल्लव- सुजाता के बुद्ध, अनुजीत इकबाल @anujit iqbal । कविताएँ- विशाखा मुलमुले @vishakha mulmule , डॉ. अतुल चतुर्वेदी DrAtul Chaturvedi , प्रगति गुप्ता Pragati Gupta , अरविन्द यादव @arvind yadav , अनिता रश्मि Anita Rashmi , डॉ. शोभा जैन Shobha Jain । समाचार सार- स्पेनिन सम्मान समारोह Kumar Sanjay , विकेश निझावन सम्मानित Nijhawan Vikesh , उज्जैन पुस्तक मेला Lalitya Lalit , अनुवाद कार्यशाला, हिन्दी दिवस समारोह Sanjay Dwivedi , पुस्तकों का लोकार्पण, अशोक ‘अंजुम’ विशेषांक Ashok Anjum , पुस्तक चर्चा Urmila Shirish , काव्य-प्रवाह, शब्द प्रवाह साहित्य सम्मान @sandeep , मासिक कविता गोष्ठी, राष्ट्रीय संगोष्ठी। आख़िरी पन्ना। आवरण चित्र राजेंद्र शर्मा, रेखाचित्र - अनुभूति गुप्ता अनुभूति गुप्ता , डिज़ायनिंग सनी गोस्वामी Sunny Goswami , शहरयार अमजद ख़ान Shaharyar Amjed Khan , आपकी प्रतिक्रियाओं का संपादक मंडल को इंतज़ार रहेगा। पत्रिका का प्रिंट संस्क़रण भी समय पर आपके हाथों में होगा।
ऑनलाइन पढ़ें पत्रिका-

https://www.slideshare.net/vibhomswar/vibhom-swar-oct-dec-2019

https://issuu.com/vibhomswar/docs/vibhom_swar_oct_dec_2019

वेबसाइट से डाउनलोड करें
http://www.vibhom.com/vibhomswar.html
फेस बुक पर
https://www.facebook.com/Vibhomswar
ब्लाग पर
http://vibhomswar.blogspot.in/
कविता कोश पर पढ़ें
http://kavitakosh.org/kk/विभोम_स्वर_पत्रिका

tum hi main hoo