आ रहीं हैं शिवना प्रकाशन के नये सेट की पुस्‍तकें ।

शिवना प्रकाशन के नये सेट की पुस्‍तकें प्रकाशन की प्रक्रिया में हैं । उनमें से कुछ जो अंतिम रूप में आ चुकी हैं उनकी पहली एक झलक देखिये । बाकी की झलक भी शीघ्र ही ।

स्‍वप्‍न मरते नहीं

swapn marte nahin 2 lock

उजला आसमां

ujla aasman all lock

देख लूं तो चलूं

dekh loon

15 comments:

shikha varshney said...

बेसब्री से इंतज़ार है.

तिलक राज कपूर said...

कलेवर तो खूबसूरत है, आपके निर्देशन में प्रकाशन है तो वह भी सार्थक ही होगा।

निर्मला कपिला said...

बहुत खूबसूरत झलक है। शिवना प्रकाशन हो, शिव का वरदान हो पंकज सुबीर जी,शिव के प्रियभकत हों, और सिहोर नगरी हो तो प्रकाशन श्रेष्ठ क्यों नही होगा। माँ शारदे की कृपा यूँ ही बनी रहे। बहुत बहुत बधाई और आशीर्वाद। बेसब्री से इन्तजार रहेगा। आपके उपन्यास का इन्तजार कर रही हूँ।

विनोद कुमार पांडेय said...

शिवना प्रकाशन और आपको बहुत बहुत बधाई..पुस्तक की रूपरेखा तो बढ़िया लग रही है निसंदेह विषय भी बढ़िया होगा...

राकेश खंडेलवाल said...

जानता जूओँ कभी स्वप्न मरते नहीं
उजला है आस्माँ वे संजोये हुए
ढूँढ़ती है नजर, किसने किसने लिखा
देख लूं तो चलूँ नाम खोये हुए
आपका स्पर्श है, रंग के रूप के
साथ में कथ्य सुन्दर रहेगा पता
सीप शिवना की देती रही मौक्त जो
ओस की चाँदनी से हैं धोये हुए

लावण्यम्` ~ अन्तर्मन्` said...

Sabhee ko Badhayee

- L

संगीता स्वरुप ( गीत ) said...

बहुत खूबसूरत प्रस्तुति ....आभार

Udan Tashtari said...

कलेवर देख अब रुकना मुश्किल हो रहा है, मास्स्साब!!

PRAN SHARMA said...

SHIVNA PRAKAASHAN NIKAT BHAVISHYA
MEIN SEHORE KAA PARYAAY HOGA .

GUNGUNEE DHOOP KO
DEKH LOON TO CHALOON
AAPKE ROOP KO
DEKH LOON TO CHALOON

"अर्श" said...

इम्तेहान हो गई इंतज़ार की ...


अर्श

राम त्यागी said...

इन्तजार है आगे का ...

दिगम्बर नासवा said...

Vaah ... itne lajawaab sheershak aur gazab ki rooprekha ... bas ab to prateelksha hai pustak ki ...

वन्दना said...

्खूबसूरत कलेवर्।

नीरज गोस्वामी said...

प्रभु, मेरा नंबर कब आएगा...???????

आवरण से निहायत खूबसूरत किताबें लग रही हैं...

नीरज

अंकित "सफ़र" said...

शिवना प्रकाशन को बहुत बहुत बधाई
इंतज़ार है इन तीनो किताबों का.