शिवना प्रकाशन द्वारा सुकव‍ि श्री राकेश खंडेलवाल जी को वर्ष 2010 का शिवना सारस्‍वत सम्‍मान दिये जाने, तथा उस अवसर पर आयोजित काव्‍य गोष्‍ठी के वीडियो।

sarswat samman2 copy1

शिवना सारस्‍वत सम्‍मान दिनांक 11 दिसम्‍बर 2010 सुकवि श्री राकेश खंडेलवाल जी

कार्यक्रम के फोटो पिकासा के सौजन्‍य से देखने के लिये आप यहां जा सकते हैं

फोटो लिंक क्रमांक 1 

फोटो लिंक क्रमांक 2

फोटो लिंक क्रमांक 3

फोटो लिंक क्रमांक 4    

कार्यक्रम के वीडिया यूट्यूब के सौजन्‍य से नीचे उपलब्‍ध हैं

1 कार्यक्रम का शुभारंभ

2 श्री राकेश खंडेलवाल जी का शिवना सारस्‍वत सम्‍मान प्रदान

 

3 अतिथियों का उदबोधन डॉ पुष्‍पा दुबे, श्री राजकुमार गुप्‍ता, श्री नारायण कासट

 

4 काव्‍य गोष्‍ठी का शुभारंभ वीनस केशरी के काव्‍य पाठ से

 

5 प्रकाश अर्श का काव्‍य पाठ

 

6 रविकांत पांडेय का काव्‍य पाठ

 

7 गौतम राजरिशी का काव्‍य पाठ

 

8 कार्यक्रम संचालक अंकित सफर का काव्‍य पाठ

 

9 स्‍थानीय शायर श्री रियाज मोहम्‍मद रियाज का काव्‍य पाठ

 

10 पंकज सुबीर का काव्‍य पाठ

 

11 श्री नारायण कासट जी का काव्‍य पाठ

 

12 श्री राकेश खंडेलवाल जी का काव्‍य पाठ

5 comments:

नीरज गोस्वामी said...

विडियो दिख नहीं रहे...यू ट्यूब पर खोजता हूँ...

नीरज

सुलभ § Sulabh said...

Sabhi video ek saath. waah maja aa gaya!
ek ek kar dekhta hun.

निर्मला कपिला said...

बहुत बहुत धन्यवाद वेडिओ दिखाने के लिये । बुकमार्क कर लिये फ्री होते ही आराम से देखती हूँ। इस आयोजन के लिये बधाई और शुभकामनायें।

संगीता स्वरुप ( गीत ) said...

इस आयोजन के लिए बधाई ...

लावण्यम्` ~ अन्तर्मन्` said...

अरे वाह ! हिन्दी साहित्य मे आज , सुमधुर कविता लिखनेवालों मे
श्री राकेश भाई को मैं , ' रस सिध्ध कविराज ' के नाम से ही पुकारती हूँ .
सुन्दर मधुर काव्यमय शब्द , गढ़ा हुआ शिल्प , सम्प्रेषण की सहजता ,
भारत की माटी की सौंधी सुगंध
भाई श्री राकेश जी की कविता मे चहूओर बिखरी रहती है
जो पाठक व श्रोताओं को बरबस बांधे रखता है
शिवना प्रकाशन से जुड़ना , परस्पर उन्नति के सोपान पर बढ़ते जाना है ..
मेरी हार्दिक बधाई
देरी से आने के लिए क्षमा ...
आप जानते हो मेरी सद भावना आप के
साथ है और राकेश जी के
हम भी पुराने फेन हैं :)
उन्हें मा सरस्वती सदा अपने आशिष से नवाजें ..
सभी का काव्य पाठ बहोत अच्छा लगा ...
सभी को नव वार्ष की शुभ कामनाएं
स स्नेह सादर
- लावण्या